5 राफेल विमान वायुसेना में शामिल:राजनाथ बोले- राफेल का शामिल होना पूरी दुनिया को कड़ा संदेश, खासकर उनके लिए जो हमारे हक पर नजर डाल रहे

  • फ्रांस से 36 राफेल की डील के तहत 5 विमानों का पहला बैच 29 जुलाई को भारत पहुंचा था
  • राफेल चौथी जेनरेशन का सबसे फुर्तीला जेट है, इससे परमाणु हमला भी किया जा सकता है

फ्रांस से खरीदे गए 5 आधुनिक फाइटर जेट राफेल भारत आने के 43 दिन बाद आज अम्बाला एयरफोर्स स्टेशन पर वायुसेना में शामिल कर लिए गए। इस मौके पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, “राफेल का भारतीय वायुसेना में शामिल होना पूरी दुनिया के लिए कड़ा संदेश है, खासकर उनके लिए जो हमारे हक पर नजर डाल रहे हैं। मैं वायुसेना के साथियों को बधाई देता हूं। हाल ही में एलएसी पर हुई दुर्भाग्यपूर्ण घटना के दौरान आपने जो तेजी और सतर्कता दिखाई, उससे आपके कमिटमेंट का पता चलता है।”

वहीं वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया ने कहा, “सुरक्षा की मौजूदा स्थिति को देखते हुए राफेल को शामिल करने का इससे अच्छा समय कोई और नहीं हो सकता था।” इससे पहले फ्रांस की डिफेंस मिनिस्टर फ्लोरेंस पार्ले की मौजूदगी में सर्वधर्म यानी हिंदू, मुस्लिम, सिख और इसाई धर्म के अनुसार पूजा की गई। उसके बाद एयर-शो हुआ, जिसमें फाइटर प्लेन ने आसमान में ताकत दिखाई। फिर, लैंडिंग के बाद वॉटर कैनन सैल्यूट दिया गया।

17 गोल्डन एरो स्क्वाड्रन में शामिल हुए राफेल
राफेल फाइटर जेट की अम्बाला स्थित 17 गोल्डन एरो स्क्वॉड्रन में औपचारिक एंट्री इतिहास के पन्नों में दर्ज हो गई है। 17 साल बाद देश का कोई रक्षा मंत्री अम्बाला एयरफोर्स स्टेशन पर किसी बड़े समारोह में शामिल हुआ है। इससे पहले अगस्त 2003 में एनडीए सरकार में रक्षा मंत्री रहे जॉर्ज फर्नांडिस ने 73 की उम्र में अम्बाला से मिग-21 बाइसन में उड़ान भरी थी।

फ्रांस ने कहा- यूएन सिक्योरिटी काउंसिल में भारत की उम्मीदवारी का समर्थन करते हैं
राफेल इंडक्शन सेरेमनी में बोलते हुए फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ले ने कहा, “आज का दिन भारत-फ्रांस के लिए एक उपलब्धि है। हम अपने रक्षा संबंधों के इतिहास में नया चैप्टर लिख रहे हैं। हम मेक इन इंडिया अभियान के लिए भी कमिटेड हैं। फ्रांस संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएन सिक्योरिटी काउंसिल) में भारत की उम्मीदवारी का समर्थन करता है।”

राफेल की डील और भारत में डिलीवरी
भारत ने फ्रांस के साथ 2016 में 58 हजार करोड़ रुपए में 36 राफेल जेट की डील की थी। इनमें 30 फाइटर जेट और 6 ट्रेनिंग एयरक्राफ्ट होंगे। ट्रेनर जेट्स टू सीटर होंगे और इनमें भी फाइटर जेट जैसे सभी फीचर होंगे। भारत को जुलाई के आखिर में 5 राफेल फाइटर जेट्स का पहला बैच मिला। 27 जुलाई को 7 भारतीय पायलट्स ने राफेल लेकर फ्रांस से उड़ान भरी और 7,000 किमी का सफर तय कर 29 जुलाई को भारत पहुंचे थे।

पिछले साल दशहरे पर राफेल जब भारत को सौंपे गए थे, तब रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने फ्रांस में हिंदू रीति रिवाज से शस्त्र पूजा करते हुए राफेल पर ‘ओम’ बनाकर नारियल चढ़ाया और धागा बांधा था। इस पूजा पर विपक्ष ने सवाल खड़े किए थे।

17 साल पहले जॉर्ज फर्नांडिस ने अम्बाला में मिग-21 उड़ाया था
अगस्त 2003 में एनडीए सरकार में रक्षा मंत्री रहे जॉर्ज फर्नांडिस ने 73 की उम्र में मिग-21 बाइसन में उड़ान भरी थी। उस वक्त मिग-21 हादसों में लगातार पायलटों की मौत की होने की वजह से सरकार पर सवाल उठने लगे थे। इन विमानों को ‘फ्लाइंग कोफिन’ तक कहा जाने लगा था।

कंगना के ऑफिस में तोड़फोड़ का मामला:एक्ट्रेस के खिलाफ शिकायत, बोलीं- गुंडों ने तोड़ा मेरा घर, शिवसेना बनी सोनिया सेना; कुछ देर में हाईकोर्ट में सुनवाई

  • बताया जा रहा है कि राज्यपाल कोश्यारी ने कंगना का ऑफिस गिराए जाने के मामले में मुख्यमंत्री के सलाहकार से रिपोर्ट मांगी है
  • हाईकोर्ट ने बीएमसी से 9 सितंबर को कंगना के ऑफिस में की गई तोड़फाेड़ के संबंध में जवाब दाखिल करने को कहा था

एक्ट्रेस कंगना रनोट के ऑफिस में तोड़फोड़ की कार्रवाई के संबंध में गुरुवार को हाईकोर्ट में सुनवाई होनी है। बुधवार को बीएमसी ने कंगना के ऑफिस में तोड़फोड़ की थी। इसी दौरान उनके वकील रिजवान सिद्दीकी ने बॉम्बे हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। कोर्ट ने बीएमसी की कार्रवाई पर स्टे लगा दिया था।

वहीं, आज मुंबई के विक्रोली पुलिस स्टेशन में कंगना के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई गई। शिकायतकर्ता वकील नितिन माने ने कंगना पर सीएम उद्धव ठाकरे के लिए आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल करने और उन्हें बदनाम करने के लिए ‘बॉलीवुड माफिया’ के साथ संबंध जोड़ने का आरोप लगाया। एक्ट्रेस ने बुधवार को एक वीडियो मैसेज में सीएम के नाम से पहले आपत्तिजनक शब्द कहा था।

कार्रवाई के दूसरे दिन भी कंगना के तीखे तेवर

गुरुवार सुबह कंगना ने तीन ट्वीट कर शिवसेना, सीएम उद्धव ठाकरे और बीएमसी पर निशाना साधा।

पहला ट्वीट

 

 

 

 

 

 

 

दूसरा ट्वीट

तीसरा ट्वीट

इस बीच, कंगना की बहन रंगोली पाली हिल्स स्थित ऑफिस में हुई तोड़फोड़ का जायजा लेने पहुंची। बताया जा रहा है कि राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने इस मामले में मुख्यमंत्री के सलाहकार से जवाब तलब किया है। वे इस कार्रवाई की रिपोर्ट केंद्र को भी भेज सकते हैं।

इससे पहले गुरुवार को कंगना के वकील ने कोर्ट में दलील देते हुए बीएमसी की कार्रवाई को गैरकानूनी, मनमानी, दुर्भावनापूर्ण बताया था। हाईकोर्ट ने बीएमसी को निर्देश दिया कि वह 9 सितंबर को तोड़फाेड़ के आदेश को चुनौती देने वाली याचिका पर जवाब दाखिल करें। बुधवार को जब तक कोर्ट का स्टे ऑर्डर आया, तब तक कंगना के ऑफिस का एक बड़ा हिस्सा गिराया जा चुका था।

सामने आया बीएमसी का दोहरा रवैया
कंगना के ऑफिस को तोड़ने से पहले सोमवार को फैशन डिजाइनर मनीष मल्होत्रा के बंगले पर अवैध निर्माण को लेकर ‘कारण बताओ नोटिस’ जारी किया गया था। बीएमसी ने उन्हें 7 दिन का समय दिया था और कंगना को सिर्फ 24 घंटे का वक्त दिया गया। नोटिस में मल्होत्रा के बंगले में अवैध निर्माण की बात भी कही गई है।

राकांपा प्रमुख पवार ने कहा- मुंबई में कई अवैध निर्माण हैं
बीएमसी की कार्रवाई शिवसेना सरकार पर उल्टे दांव की तरह पड़ती नजर आ रही है। महाराष्ट्र में शिवसेना की गठबंधन सरकार में सहयोगी दल कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने इस विवाद से पल्ला झाड़ लिया है। राकांपा अध्यक्ष शरद पवार ने कहा कि बीएमसी की कार्रवाई ने अनावश्यक रूप से कंगना को बोलने का मौका दे दिया है। मुंबई में कई अन्य अवैध निर्माण हैं। यह देखने की जरूरत है कि अधिकारियों ने यह निर्णय क्यों लिया।

कंगना के बहाने राष्ट्रपति शासन की मांग

मुंबई के कंगना के ऑफिस में हुई तोड़फोड़ के मामले को आधार बनाकार अब राज्य में राष्ट्रपति शासन की मांग उठाई जा रही है। अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की बहन श्वेता सिंह कीर्ति और झारखंड के जमशेदपुर पूर्वी से विधायक सरयू राय ने राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की है। अभिनेता की बहन ने ट्वीट कर कहा,”हे भगवान! यह कैसा गुंडा राज है। इस तरह का अन्याय बिल्कुल भी नहीं सहना चाहिए। क्या राष्ट्रपति शासन इस अन्याय का जवाब हो सकता है? चलो दोबारा राम राज स्थापित करते हैं।”

सरयू राय ने बीएमसी की कार्रवाई को जंगलराज बताया है। साथ ही महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की है।

#NEWSPRAVAKTA #UPDATES #India

रोनाल्डो की एक और उपलब्धि:100 इंटरनेशनल गोल करने वाले दुनिया के दूसरे फुटबॉलर, नेशंस कप में स्वीडन के खिलाफ 2 गोल कर पुर्तगाल को जिताया

  • क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने पुर्तगाल के लिए 165 मैचों में 101 इंटरनेशनल गोल किए
  • ईरान के अली देई ने 149 मैच में सबसे ज्यादा 109 इंटरनेशनल गोल दागे

क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने 10 महीने के लंबे इंतजार के बाद मंगलवार को अपना 100वां इंटरनेशनल गोल पूरा कर लिया है। उन्होंने यह उपलब्धि नेशंस कप में स्वीडन के खिलाफ हासिल की। यह मैच पुर्तगाल ने 2-0 जीता। दोनों गोल रोनाल्डो ने 45वें और 72वें मिनट में किए। पुर्तगाल का अगला मैच 10 अक्टूबर को फ्रांस से होगा।

रोनाल्डो 165 मैच में 101 इंटरनेशनल गोल के साथ दुनिया के दूसरे और यूरोप के पहले खिलाड़ी बन गए हैं। इस लिस्ट में ईरान के अली देई 149 मैच में सबसे ज्यादा 109 इंटरनेशनल गोल के साथ टॉप पर काबिज हैं।

चोट के कारण लीग का पहला मैच नहीं खेल सके थे
इससे पहले पैर के अंगूठे में चोट के कारण रोनाल्डो नेशंस लीग में क्रोएशिया के खिलाफ मैच नहीं खेल सके थे। इससे पहले उन्होंने अपना पिछला मैच 17 नवंबर को यूरो कप के क्वालिफाइंग मैच में लक्समबर्ग के खिलाफ खेला था।

International goals:

Cristiano Ronaldo – 101

Pele – 77

Lionel Messi – 70

Ronaldo Nazario – 62

Diego Maradona – 34

फ्री किक के जरिए रोनाल्डो ने 100वां गोल पूरा किया
रोनाल्डो ने स्वीडन के खिलाफ मैच में ब्रेक से पहले फ्री किक को गोल में तब्दील कर अपना और टीम का खाता खोला। इसके साथ ही उन्होंने अपना 100वां भी गोल पूरा किया। वहीं उन्होंने मैच के 73वें मिनट में पेनाल्टी एरिया से गोल मारकर दूसरा गोल किया।

अगला टारगेट 109 गोल के रिकॉर्ड को तोड़ना है: रोनाल्डो
रोनाल्डो ने कहा, ‘‘मैं 100 गोल का टारगेट हासिल करने में सफल रहा। अब मेरा लक्ष्य 109 गोल के वर्ल्ड रिकॉर्ड को तोड़ना है, जो ईरान के अली देई के नाम दर्ज है। मैं स्टेप बाई स्टेप अपने लक्ष्य की ओर बढ़ रहा हूं। मैं जुनूनी नहीं हूं, क्योंकि मेरा मानना है कि रिकॉर्ड नेचुरल तरीके से आते हैं।’’

यूरोप में नवंबर के बाद कोई इंटरनेशनल मैच नहीं हुए
यूरोप में कोरोना के कारण पिछले नंवबर के बाद कोई भी इंटरनेशनल मैच नहीं हुए हैं। हालांकि ला लिगा, चैम्पियंस लीग और यूरोपा लीग खेले गए हैं। वहीं, 2020 यूरोपा फुटबॉल लीग को भी अगले साल के लिए रद्द कर दिया गया है।

रोनाल्डो ने 2004 में डेब्यू किया था
रोनाल्डो ने अपना पहला इंटरनेशनल मैच ग्रीस के खिलाफ 12 जून 2004 को खेला था। इसमें अपना पहला इंटरनेशनल गोल किया था। जबकि अली देई ने अपने देश के लिए पहला इंटरनेशनल मैच 25 जून 1993 को ताइपे के खिलाफ खेला था। अली ने पहले ही मैच में 3 गोल किए थे। उन्होंने टीम को 6-0 से जीत दिलाई थी। जबकि उन्होंने अपना अंतिम इंटरनेशनल मैच 1 मार्च 2006 को कोस्टा रिका के खिलाफ खेला था

 

 

कंगना के मुंबई पहुंचने से पहले बवाल:एक्ट्रेस के ऑफिस में 2 घंटे तोड़फोड़ के बाद BMC की कार्रवाई पर हाईकोर्ट की रोक, कंगना बोलीं- मुंबई को PoK कहकर गलती नहीं की

  • कंगना ने कहा- महाराष्ट्र सरकार और उसके गुंडे मेरी प्रॉपर्टी पर अवैध कार्रवाई करने पहुंचे हैं
  • बीएमसी ने कहा कि नोटिस मिलने के बाद भी कंगना ने काम जारी रखा, इसलिए फौरन कार्रवाई की गई

कंगना रनोट के हिमाचल से मुंबई पहुंचने से पहले जमकर बवाल हुआ। वे करीब पौने तीन बजे मुंबई पहुंचीं। इसके पहले बीएमसी ने उनके मुंबई स्थित ऑफिस में अवैध निर्माण को लेकर 24 घंटे में दूसरा नोटिस भेजा। फिर बीएमसी की एक टीम जेसीबी मशीन, क्रेन और हथौड़े लेकर ऑफिस पहुंच गई और कंस्ट्रक्शन तोड़ा। टीम ने कार्रवाई सुबह 10.30 बजे से दोपहर 12.40 बजे तक की। कंगना का यह ऑफिस बांद्रा के पाली हिल में है। इसे 48 करोड़ रुपए खर्च कर बनवाया है। यहां उनके प्रोडक्शन हाउस मणिकर्णिका फिल्म्स का ऑफिस है।

एक्ट्रेस ने बीएमसी की इस कार्रवाई के खिलाफ बॉम्बे हाईकोर्ट में अपील की। कोर्ट ने सुनवाई के बाद कार्रवाई पर रोक लगा दी और बीएमसी से इस मामले में जबाव दाखिल करने को कहा। उधर, कंगना के वकील रिजवान सिद्दीकी ने कहा कि बीएमसी ने जो नोटिस दिया, वो अवैध था। कर्मचारी अवैध तरीके से ही परिसर में दाखिल हुए। साफ समझ में आता है कि बीएमसी पहले से ही बिल्डिंग गिराने के लिए तैयार थी। अब हाईकोर्ट में गुरुवार दोपहर 3 बजे सुनवाई होगी।

कार्रवाई गैर-जरूरी थी: पवार

राकांपा प्रमुख शरद पवार ने इस कार्रवाई पर कहा कि यह कार्रवाई गैर-जरूरी थी। यह देखना होगा कि बीएमसी ने यह फैसला क्यों लिया है। इस कार्रवाई से कंगना को पब्लिसिटी मिलेगी।

कंगना ने शिवसेना से कहा- याद रख बाबर, यह मंदिर फिर बनेगा

कंगना ने इस कार्रवाई पर लगातार 5 ट्वीट किए। उन्होंने कहा, ‘यह एक इमारत (ऑफिस) नहीं, राम मंदिर है, आज वहां बाबर आया है। उन्होंने कहा कि दुश्मनों ने साबित किया कि मुंबई को पीओके कहकर गलती नहीं की।’

दरअसल, एक्ट्रेस ने मुंबई की तुलना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) से की थी, जिसके बाद विवाद खड़ा हो गया था। केंद्र ने उन्हें Y कैटेगरी की सुरक्षा दी है, इस दौरान 11 सुरक्षाकर्मी हमेशा उनके साथ रहेंगे।

#newspravakta #newsupdate #India

गैंगस्टर मुख्तार मलिक का घर तोड़ने पहुंची निगम टीम; पत्नी ने रोका, पूर्व पार्षद ने भी हंगामा किया, पुलिस ने हिरासत में लिया

  • पूर्व पार्षद और कांग्रेस नेता शाबिस्ता जकी भी मौके पर पहुंची थीं, पुलिस ने घर तोड़ने से रोकने और हंगामा करने पर श्यामला हिल्स थाने में बिठा लिया
  • मुख्तार मलिक को भोपाल पुलिस ने मंगलवार को रायसेन में एक ढाबे से गिरफ्तार किया था, उस पर 50 से ज्यादा केस

भोपाल के कुख्यात बदमाश गैंगस्टर मुख्तार मलिक के श्यामला हिल्स इलाके में अहाता रुस्तम खान स्थित मकान को तोड़ने की कार्रवाई बुधवार सुबह जिला प्रशासन और नगर निगम की टीम ने शुरू की। ये मकान मुख्तार की पत्नी शीबा मलिक के नाम पर है। दोमंजिला बने मकान को तोड़ने पहुंचे अमले को देखकर मुख्तार की पत्नी शीबा मलिक ने हंगामा शुरू कर दिया। महिला पुलिसकर्मियों की मदद से शीबा को हटाया गया। मंगलवार को मुख्तार को रायसेन के गौहरगंज स्थित ढाबे से गिरफ्तार किया गया था।

कुछ देर बाद पूर्व पार्षद और कांग्रेस नेता शाबिस्ता जकी भी कार्रवाई का विरोध करने पहुंच गईं। नगर निगम और जिला प्रशासन के अफसरों से कहासुनी के बाद पुलिस ने शाबिस्ता जकी को हिरासत में ले लिया और श्यामला हिल्स थाने में बिठा लिया। सूत्रों का कहना है कि पिछले एक सप्ताह से मलिक के अवैध मकान को तोड़ने की प्लानिंग जिला प्रशासन और नगर निगम की टीम कर रही थी। लेकिन मुख्तार की गिरफ्तार नहीं होने के चलते ये कार्रवाई को रोक दिया गया था। अमला जेसीबी और ड्रिलिंग मशीनें लगाकर मकान को जमींदोज करने में जुटा है। शाम को 4 बजे तक कार्रवाई चलेगी। इसके बाद गुरुवार को भी कार्रवाई जारी रहने की उम्मीद है।

 

शाबिस्ता जकी ने कहा- घर तोड़ना असंवैधानिक
कांग्रेस नेता आसिफ जकी और पूर्व पार्षद शबिस्ता जकी को पुलिस ने हिरासत में लिया है। दोनों लोग मुख्तार मालिक के मकान तोड़ने का विरोध कर रहे थे। पूर्व पार्षद शाबिस्ता जकी का कहना है कि इस मकान का न्यायालय में केस चल रहा है। इसलिए इसे तोड़ना असंवैधानिक है।

माफिया अभियान में मकान को सील किया गया था
पिछले साल तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने माफियाओं के खिलाफ अभियान चलाया था। इस दौरान जिला प्रशासन की टीम ने मुख्तार मलिक के इस घर को सील कर दिया था। मलिक के खिलाफ भोपाल और रायसेन जिले के 16 थानों में 50 से ज्यादा गंभीर केस दर्ज हैं।

मंगलवार को रायसेन में एक ढाबे से गिरफ्तार हुआ था बदमाश
54 वर्षीय मुख्तार मलिक रायसेन जिले के गौहरगंज इलाके में फरारी काट रहा है। पुलिस की एक विशेष टीम ने उसके जंगल पैराडाइज नामक ढाबे पर छापा मारा था। यहां आरोपी हमेशा अपने साथ हथियार रखता था। तलाशी लेने पर उसके पास एक पिस्टल, दो मैगजीन और 25 कारतूस मिले।

 

एयरपोर्ट पर नारेबाजी के बीच घर पहुंचीं कंगना, कहा- उद्धव ठाकरे! आज मेरा घर टूटा है, कल तेरा घमंड टूटेगा, यह वक्त का पहिया है, याद रखना

  • एक्ट्रेस कंगना रनोट के खिलाफ एयरपोर्ट पर शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी की
  • कंगना ने कहा- ठाकरे! यह जो क्रूरता और आतंक मेरे साथ हुआ है, उसके कुछ मायने हैं

मुंबई को ‘पीओके’ कहने के विवाद के बीच एक्ट्रेस कंगना रनोट बुधवार दोपहर 2:45 बजे मुंबई पहुंचीं। इस दौरान एयरपोर्ट पर भारी हंगामा हुआ। उनके समर्थक और विरोधी आमने-सामने आ गए। उन्हें वीआईपी गेट की बजाय दूसरे गेट से बाहर निकाला गया। वे एयरपोर्ट से सीधे खार स्थित अपने घर पहुंचीं। फिलहाल, एक्ट्रेस की सुरक्षा के लिए उनके घर के बाहर 50 से ज्यादा पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं।

घर पहुंचते ही उन्होंने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को चुनौती दी। कहा, ‘आज मेरा घर टूटा है, कल तेरा घमंड टूटेगा, जय महाराष्ट्र। उद्धव ठाकरे! तुझे क्या लगता है, तूने फिल्म माफिया के साथ मिलकर मेरा घर तोड़कर मुझसे बहुत बड़ा बदला लिया है। तुमने बहुत बड़ा एहसान किया है। मुझे पता तो था कि कश्मीरी पंडितों पर क्या बीती होगी। आज मुझे इस बात का एहसास हुआ है। आज मैं आपको एक वादा करती हूं कि मैं सिर्फ अयोध्या पर ही नहीं, कश्मीर पर भी एक फिल्म बनाऊंगी। अपने देश के लोगों को जगाऊंगी। ठाकरे, यह जो क्रूरता और आतंक मेरे साथ हुआ है, उसके कुछ मायने हैं। जय हिंद। जय भारत।’

एयरपोर्ट पर भारी हंगामा हुआ
इससे पहले, एयरपोर्ट पर शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने कंगना के खिलाफ नारेबाजी की। उधर, रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया और करणी सेना उनके समर्थन में उतर आई। इन पार्टियों के समर्थक एयरपोर्ट पर मौजूद थे।

कंगना के मुंबई पहुंचने से पहले एयरपोर्ट पर सुरक्षा के सख्त इंतजाम किए गए थे। उनकी सुरक्षा में मुंबई पुलिस के फील्ड मार्शल, सीआईएसएफ और मुंबई पुलिस के 24 से ज्यादा जवान तैनात किए गए।

बीएमसी ने कंगना के मुंबई स्थित ऑफिस में अवैध निर्माण को तोड़ा
बुधवार सुबह बीएमसी ने अवैध निर्माण को लेकर कंगना के ऑफिस पर बुलडोजर चलाया। सुबह 10.30 बजे शुरू हुई यह कार्रवाई दोपहर 12.40 बजे तक चली। इस कार्रवाई के दौरान ऑफिस के बाहरी हिस्से से बालकनी और अंदर के बने निर्माण को बुरी तरह से तोड़ा गया है। इस दौरान आसपास रहने वाले कुछ लोगों ने इस तोड़फोड़ का विरोध भी किया। हालांकि, बॉम्बे हाईकोर्ट ने बीएमसी की कार्रवाई पर अगले आदेश तक रोक लगा दी है। मामले में अगली सुनवाई गुरुवार 3 बजे होगी।

शरद पवार ने कहा- यह कार्रवाई गैर जरुरी थी
इस बीच, राकांपा प्रमुख शरद पवार ने इस कार्रवाई को गलत बताया। उन्होंने कहा कि मुंबई में और भी अवैध निर्माण हैं और यह कार्रवाई गैर जरुरी है। यह देखना होगा कि बीएमसी ने यह फैसला क्यों लिया। इस कार्रवाई से कंगना को बोलने का मौका मिला है। भाजपा नेता आशीष शेलार ने इसे बदले की भावना से की गई कार्रवाई करार दिया है।

शिवसेना ने कहा- बदले की भावना से कार्रवाई नहीं की
शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि हमने बदले की भावना से कोई कार्रवाई नहीं की है। शिवसेना कभी भी बदले की भावना से कोई कार्रवाई नहीं करती है। कंगना ने मुंबई के बारे में गलत कहा। शिवसेना कभी कटघरे में खड़ी नहीं होती है। उधर, भाजपा नेता आशीष शेलार ने इसे बदले की भावना से की गई कार्रवाई करार दिया। उन्होंने कहा कि यह टाउन प्लानिंग के कारण की गई कार्रवाई नहीं है। हम इसका विरोध करते हैं।

#newspravakta #newsupdate #India